DGR एमपैनल सेक्योरिटी सर्विस कैसे स्टार्ट करे?

DGR security service

डिफ़ेन्स पर्सन रिटायरमेंट के बाद जॉब या सेल्फ़ एमप्लोयमेंट के ज़रिए सर्च करता हैं। इस फ़ेज़ में ESM की DGR (Directorate General of Resettlement) विभिन्न स्कीम के द्वारा हेल्प करता हैं। इन सभी स्कीम में से एक हैं DGR एमपैनल  सेक्योरिटी एजेन्सी स्कीम। इस पोस्ट में हम DGR एमपैनल  सेक्योरिटी एजेन्सी स्कीम की प्रत्येक डिटेल के बारे में समझेंगे की यह कैसे शुरू कर सकते हैं तथा कैसे फ़ंक्शन करता हैं।

DGR एमपैनल सेक्योरिटी एजेन्सी स्कीम

भारतीय सरकार के डिपार्टमेंट ओफ़ पब्लिक एंटरप्राइज़ के ऑफ़िस मेमोरंडम नम्बर 6/22/93-GL-15-DPE(SC/ST) dated 01 Feb 1994 के अनुसार, जितनी भी CPSU तथा CPSEs हैं उन्हें सेक्योरिटी सर्विस DGR के माध्यम से लेनी होती हैं ताकि अधिक से अधिक ESM को एमपलोयमेंट मिल सके। इसलिए जितनी भी CPSU तथा CPSE जैसे BHEL, BPCL, CIL, GAIL, HPCL, IOCL, NTPC,ONGC तथा अन्य पब्लिक कम्पनी को सेक्योरिटी कवर की आवश्यकता होती हैं तो वह DGR स्पॉन्सर सेक्योरिटी सर्विस से ही लेती हैं।

यदि आप डेली डिफ़ेन्स वेलफ़ेयर न्यूज़ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके फ़ौजी अड्डा ऐप इंस्टॉल कर सकते हैं। फ़ौजी अड्डा ऐप में में आप CSD कैंटीन प्रोडक्ट के प्राइस, CSD डीलर, MCO कोटा, सैनिक गेस्ट हाउस, तथा अलग अलग कंपनियो से डिफ़ेन्स पर्सन को मिलने वाले डिस्काउंट की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

ये पब्लिक कम्पनीया समय समय पर अपनी सेक्योरिटी रिकवायरमेंट DGR को सेंड करती हैं तथा DGR स्पॉन्सर सेक्योरिटी एजेन्सी को रूल के अनुसार वेकन्सीज़ अलॉट कर देता हैं। 

DGR दो तरह की सेक्योरिटी सर्विस को एमपैनल करता हैं। 

  1. इंडिविजूअल ESM सेक्योरिटी सर्विस – केवल ऑफ़िसर के लिए 
  2. स्टेट गवर्मेंट ESM कॉर्परेशन 

अब बात करते हैं सेक्योरिटी एजेन्सी को DGR से कैसे एम्पनेल करे जिससे DGR में आने वाली सेक्योरिटी गार्ड की वेकन्सी मिल सके।

सेक्योरिटी एजेन्सी को DGR से एमपैनल करने के लिए योग्यता 

  1. एक्ससर्विसमैंन ऑफ़िसर रैंक का होना चाहिए। 
  2. वह भारत का नागरिक होना चाहिए। 
  3. ESM की आयु अप्लाई करते समय 60 वर्ष से कम होनी चाहिए। 
  4. डिसप्लिन के आधार पर सेना से डिस्मिस नही होना चाहिए। 
  5. सेक्योरिटी एजेन्सी के लिए अप्लाई करने से पहले DGR से कोई सेल्फ़ एमप्लोयमेंट या जॉब जैसी वेलफ़ेयर स्कीम को अवेल नही करना चाहिए।   
  6. रिटायरमेंट के बाद भारतीय सेना, CPSU या स्टेट गवेर्मेंट जॉब में नही होना चाहिए। 
  7. यदि स्टेट ESM कॉर्परेशन DGR से एमपैनल होती हैं तो वह उस स्टेट में अप्रुव होनी चाहिए तथा वह केवल उसी स्टेट में ऑपरेट कर सकती हैं जिस स्टेट से वह ESM संस्था सम्बंध रखती हैं।

एम्पनेल के लिए प्रॉसेस 

  1. एलिजिबल एक्ससर्विसमैन DGR की अफ़िशल वेब्सायट पर विज़िट करके सेक्योरिटी एजेन्सी एमपैनल के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं। ऑनलाइन अप्लाई करने के पश्चात ऐप्लिकेशन का प्रिंट लेकर हार्ड कॉपी DGR ऑफ़िस में सेंड करनी होती हैं। यदि ESM ऑफ़्लाइन अप्लाई करते हैं तो DGR ऑफ़िस द्वारा ऐप्लिकेशन वेब्सायट पर होस्ट कर दी जाती हैं जिससे आप ऐप्लिकेशन का स्टेट्स ऑनलाइन चेक कर सके।
  2. इसके पश्चात DGR के द्वारा ऐप्लिकेशन की जाँच की जाती हैं तथा एक वीक के अंदर कोई भी ऑब्ज़र्वेशन या डिफ़िशन्सी होती हैं तो वह ऑनलाइन तथा ऑफ़्लाइन माध्यम से ESM को सेंड कर दी जाती हैं।
  3. इसके पश्चात 15 दिन के अंदर सेक्योरिटी एजेन्सी एमपैनल कर दी जाती हैं। DGR स्पान्सर्शिप के तहत ESM की सेक्योरिटी एजेन्सी केवल एक स्टेट में ऑपरेट कर सकती हैं हालाँकि पूरे एमपैनल पिरीयड के दौरान उसे एक बार स्टेट चेंज करने की पर्मिशन होती हैं।
  4. ESM की सेक्योरिटी एजेन्सी DGR एमपैनल रेजिस्ट्रेशन की तिथि के आधार पर स्टेट वाइज़ एक लिस्ट तैयार की जाती हैं जिसे आप सीन्यॉरिटी लिस्ट भी कह सकते हैं। इसी लिस्ट के आधार पर ESM को सिक्यरिटी गार्ड की सपोंशरशिप मिलती हैं। यह लिस्ट आप DGR की वेब्सायट पर यहाँ क्लिक करके देख सकते हैं।
  5. ESM रिटायरमेंट वॉर्निंग लेटर मिलते ही DGR सपोंसरशिप के लिए अप्लाई कर सकता हैं जिससे उसकी सीन्यॉरिटी, रेजिस्ट्रेशन की डेट से मिलती हैं परंतु सपोंसरशिप रिटायरमेंट के बाद ही मिलती हैं।
DGR security service

म्ह्त्व्पूर्ण डॉक्युमेंट्स तथा रूल 

अब बात करते हैं सेक्योरिटी एजेन्सी शुरू करने के लिए म्ह्त्व्पूर्ण डॉक्युमेंट्स की, जो ESM को सेक्योरिटी एजेन्सी शुरू करने के लिए तैयार करने होते हैं। यदि आप सेक्योरिटी एजेन्सी को DGR से एमपैनल भी नहीं करते हैं तब भी आप को सेक्योरिटी एजेन्सी के लिए इन डॉक्युमेंट की आवश्यकता होती हैं।

  1. PSARA (Private Security Agency Regulation Act) लाइसेन्स – सेक्योरिटी एजेन्सी शुरू करने के लिए PSARA लाइसेन्स अनिवार्य हैं। इसे आप स्वयं तैयार करवा सकते हैं या किसी थर्ड पार्टी सर्विस प्रोवाइडर की मदद से भी प्रिपेयर कर सकते हैं। PSARA लाइसेन्स का कम्प्लीट प्रॉसेस तथा एलिजबिलिटी हम नेक्स्ट पोस्ट में कवर करेंगे।
  2.  लेबर लाइसेन्स – सेक्योरिटी एजेन्सी को लेबर डिपार्टमेंट से लेबर लाइसेन्स भी प्राप्त करना होता हैं। उसके पश्चात ही आप सेक्योरिटी एजेन्सी को ऑपरेट कर सकते हैं
  3. GST नम्बर – यदि सेक्योरिटी एजेन्सी का ऐन्यूअल टर्नोवर 40 लाख से अधिक हैं तो GST रेजिस्ट्रेशन की भी आवश्यकता होती हैं।
  4. सेक्योरिटी एजेन्सी ऑफ़िस – सेक्योरिटी एजेन्सी के लिए एक ऑथरायज़्ड एरिया में एक ऑफ़िस भी सेट अप करना होता हैं जिसमें एक लैंडलाइन फ़ोन तथा फ़ैक्स होना जरुरी हैं। DGR ऑफ़िस द्वारा सभी कोर्सपोंडँस इसी ऐड्रेस पर की जाती हैं। DGR एमपैनल के अनुसार, ESM इस ऑफ़िस स्पेस को दूसरे किसी बिज़नेस से शेयर नही कर सकते तथा पहला कॉंट्रैक्ट मिलने के 1 महीने के अंदर ऑफ़िस रेंट अग्रीमेंट DGR ऑफ़िस में सबमिट करना होता हैं।

सेक्योरिटी गार्ड तथा सर्विस फ़ीस डिटेल 

गार्ड कोटा – इंडिविजूअल ESM सेक्योरिटी एजेन्सी को DGR अधिकतम 120 गार्ड ईयर की सपोंसरशिप देता हैं तथा यह सपोंसरशिप 2 वर्ष के लिए वैलिड होती हैं यानी सेक्योरिटी एजेन्सी को एक वर्ष में अधिकतम 120 गार्ड DGR सपोंसरशिप से मिलते हैं। जबकि ESM कॉर्परेशन को अधिकतम 1000 गार्ड पर ईयर मिलते हैं।

यदि आप डेली डिफ़ेन्स वेलफ़ेयर न्यूज़ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके फ़ौजी अड्डा ऐप इंस्टॉल कर सकते हैं। फ़ौजी अड्डा ऐप में में आप CSD कैंटीन प्रोडक्ट के प्राइस, CSD डीलर, MCO कोटा, सैनिक गेस्ट हाउस, तथा अलग अलग कंपनियो से डिफ़ेन्स पर्सन को मिलने वाले डिस्काउंट की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

गार्ड एमपलोयमेंट – इंडिविजूअल सेक्योरिटी एजेन्सी द्वारा 90% सेक्योरिटी गार्ड रेटायअर्ड डिफ़ेन्स पर्सन होने चाहिए जबकि ESM कॉर्परेशन को 100% गार्ड ESM एमप्लोय करने होते हैं। सेक्योरिटी गार्ड तथा सूपरवाइजर की अधिकतम आयु 65 ईयर हैं।

गार्ड सैलरी तथा सेक्योरिटी एजेन्सी सर्विस फ़ीस – सेक्योरिटी गार्ड को मिनिस्ट्री ओफ़ लेबर एंड एमपलोयमेंट के मिनमम वेज के अनुसार सैलरी मिलती हैं। इसके अतिरिक्त गवेर्मेंट रूल के अनुसार स्टैंडर्ड डिडक्शन जैसे PPF इत्यादि डिपॉज़िट होते हैं। सेक्योरिटी सूपरवाइजर को सेक्योरिटी गार्ड की सैलरी का 1.33 टाइम सैलरी मिलती हैं यदि सेक्योरिटी गार्ड तथा सूपरवाइजर दूर दराज तथा ख़तरनाक जगह जैसे कोल फ़ील्ड, माइंस जैसी जगह ड्यूटी करते हैं तो उन्हें 25% एक्स्ट्रा अलाउन्स दिया जाता हैं। सेक्योरिटी एजेन्सी को प्रत्येक गार्ड की सैलरी पर 14% सर्विस फ़ी मिलती हैं जो उसकी अर्निंग होती हैं।

यह थी DGR सपोंसरशिप सेक्योरिटी गार्ड एजेन्सी से सम्ब्न्धित महतवपूर्ण जानकारी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अन्य ESM के साथ अवश्य शेयर करे। यदि आप किसी टॉपिक के बारे में जानना चाहते हैं तो आप कॉमेंट सेक्शन में पोस्ट कर सकते हैं फ़ौजी अड्डा टीम आपको वह जानकारी उपलब्ध करने की कोशिश करेगी।

कमेंट करे

%d bloggers like this: