क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं तथा कैसे काम करता हैं?

credit card tips

क्रेडिट कार्ड के बारे में आप प्रत्येक दिन मोबाइल या टेलिविज़न पर ऐडवरटाइज़मेंट ज़रूर देखते होंगे। क्या वाक़ई में क्रेडिट कार्ड इतने फ़ायदेमंद हैं जितना की उन्हें ऐडवरटाइज़मेंट में दिखाया जाता हैं। प्रत्येक बैंक अलग अलग तरह के क्रेडिट कार्ड जारी कर रहा हैं जिसमें कंजुमर को बहुत अधिक बेनेफ़िट देने के दावे किए जाते हैं। आज की पोस्ट में इसी टॉपिक के बारे में डिस्कस करेंगे कि क्या डिफ़ेन्स पर्सन को क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करना फ़ायदेमंद हैं या नही। यदि क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करे तो कौन सा क्रेडिट कार्ड बेस्ट रहेगा।

पहले बात करते हैं की क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं तथा काम कैसे करता हैं।

क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं?

क्रेडिट कार्ड यूज़र को प्रत्येक महीने एक क्रेडिट लिमिट देता हैं। क्रेडिट कार्ड की इस लिमिट का इस्तेमाल करके आप कोई भी प्रोडक्ट ख़रीद सकते हैं। उदाहरण के तौर पर यदि किसी व्यक्ति के क्रेडिट कार्ड की लिमिट 30000 रुपए हैं तो वह एक महीने के अंदर क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके कोई भी प्रोडक्ट या सर्विस ख़रीद सकता हैं। क्योंकि क्रेडिट कार्ड की लिमिट 30000 रुपए हैं तो वह व्यक्ति केवल 30000 रुपए तक के ही प्रोडक्ट मार्केट से या ऑनलाइन ख़रीद पाएगा।

क्रेडिट कार्ड की पेमेंट के लिए प्रत्येक बैंक लगभग 45 दिन से 50 दिन का समय देता हैं जिसे इंट्रेस्ट फ़्री पिरीयड भी कहा जाता हैं। इस समय के दौरान क्रेडिट कार्ड यूजर को क्रेडिट कार्ड से यूज किए गयी क्रेडिट लिमिट के लिए कोई इंट्रेस्ट पे नही करना होता हैं। 45 – 50 दिन के बाद यूज़र इस्तेमाल किए गए क्रेडिट कार्ड के बिल की पेमेंट कर सकता हैं। दूसरे शब्दों में कहे तो क्रेडिट कार्ड 45 से 50 दिन के लिए इंट्रेस्ट फ़्री लोन की सुविधा देता हैं।

सबसे पहले यह जानना ज़रूरी हैं की क्रेडिट कार्ड में इस्तेमाल होने वाली टर्मस क्या क्या होती हैं। पहले बात करते हैं कि क्रेडिट कार्ड में इस्तेमाल होने वाली क्रेडिट लिमिट क्या होती हैं।

क्रेडिट कार्ड लिमिट

बैंक द्वारा प्रत्येक क्रेडिट कार्ड के लिए एक लिमिट बनाई जाती हैं। उस लिमिट तक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके एक महीने में प्रोडक्ट ख़रीदे जा सकते हैं। क्रेडिट कार्ड लिमिट बैंक द्वारा यूज़र के क्रेडिट स्कोर, जॉब तथा इनकम को ध्यान में रखकर डिसाइड की जाती हैं। जिस भी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर अच्छा होता हैं तथा सैलरी भी अधिक होती हैं उसे अधिक क्रेडिट लिमिट दी जाती हैं।

क्रेडिट कार्ड बिलिंग साइकल

मानकर चलते हैं एक व्यक्ति कुलदीप कुमार जिसके पास एक बैंक का क्रेडिट कार्ड हैं जिसकी लिमिट 30000 रुपए हैं। इस क्रेडिट कार्ड की बिलिंग साइकल हर महीने की 1 तारीख़ से शुरू होती हैं। यानी क्रेडिट कार्ड का बिल प्रत्येक महीने 1 तारीख़ से शुरू होगा। यदि बिलिंग साइकल 30 दिन की हैं तो कुलदीप कुमार के क्रेडिट कार्ड की बिलिंग साइकल महीने की 1 तारीख़ से 30 तारीख़ तक होगी। यानी 1 तारीख़ से 30 तारीख़ तक जो भी क्रेडिट कार्ड में ट्रैंज़ैक्शन होंगे उनका बिल एक साथ आएगा। इसे क्रेडिट कार्ड की बिलिंग साइकल कहते हैं।

क्रेडिट कार्ड ड्यु डेट

क्रेडिट कार्ड ड्यु डेट, क्रेडिट कार्ड बिल पे करने की अंतिम तारीख़ होती हैं यानी इस तारीख़ तक बिल पे करने पर आपको कोई भी इंट्रेस्ट या पेनल्टी पे नही करनी होती हैं। यदि बिलिंग साइकल 1 तारीख़ से 30 तारीख़ हैं तो उस क्रेडिट कार्ड की स्टेट्मेंट हर महीने की 31 तारीख़ को तैयार होगी। यदि महीना 30 दिन का हैं तो उससे अगले दिन स्टेट्मेंट तैयार होगी। क्रेडिट कार्ड की ड्यु डेट बिलिंग साइकल के 15 से 20 दिन के बाद की होती हैं।

उदाहरण के लिए जनवरी महीने की बिलिंग साइकल 1 जनवरी से 30 जनवरी हैं तो बिल पे करने की ड्यु डेट 20 फ़रवरी होगी। यानी यूज़र 1 जनवरी से 30 जनवरी तक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके जो भी शॉपिंग करेगा उसकी स्टेट्मेंट 31 जनवरी को इशू होगी। वह बिल यूजर को क्रेडिट कार्ड बिल की ड्यु डेट 20 फ़रवरी तक पे करना होता हैं।

यदि क्रेडिट कार्ड यूज़र बिल की पेमेंट 20 फ़रवरी तक कर देता हैं तो उसे कोई भी इंट्रेस्ट या पेनल्टी पे नही करनी होती हैं। किसी भी क्रेडिट कार्ड के बिल की ड्यु डेट तथा बिलिंग साइकल क्रेडिट कार्ड की स्टेट्मेंट में चेक कर सकते हैं।

ऊपर दी गयी जानकारी से आप यह तो समझ ही गए होंगे की क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं तथा कैसे काम करता हैं। अब बात करते हैं की क्रेडिट कार्ड में यूज़र को कौन कौन सी फ़ीस या चार्जेज़ पे करने होते हैं।

क्रेडिट कार्ड APR

यदि क्रेडिट कार्ड यूज़र क्रेडिट कार्ड के बिल की पेमेंट समय से नही करता हैं तो उसे इंट्रेस्ट पे करना होता हैं जिसे APR (Annual Percentage Rate) कहते हैं जो की लोन की तुलना में बहुत अधिक होती हैं। क्रेडिट कार्ड इंट्रेस्ट रेट हर बैंक का अलग अलग होता हैं जो की लगभग 2.5% से 3.5% मन्थ्ली के बीच होता हैं।

जैसा कि ऊपर उदाहरण में बिल की ड्यु डेट 20 फ़रवरी थी यदि यूज़र बिल की पेमेंट 20 फ़रवरी के बाद करता हैं तो उसे APR के अनुसार प्रत्येक दिन के अनुसार इंट्रेस्ट पे करना होता हैं। क्रेडिट कार्ड के बिल की पेमेंट समय पर करने से कोई भी इंट्रेस्ट पे नही करना होता हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड के बिल की पेमेंट समय पर करना बहुत ही ज़रूरी होता हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल शॉपिंग या कोई भी बिल पेमेंट के लिए ही किया जा सकता हैं। यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके ATM से पैसे निकालते हैं तो पहले दिन से ही यूज़र को इंट्रेस्ट पे करना होता हैं।

मिनिमम अमाउंट ड्यु

क्रेडिट कार्ड के बिल को पे करते समय एक मिनिमम अमाउंट ड्यु का ऑप्शन मिलता हैं। यदि यूज़र पूरे महीने के बिल को पे करने में सक्षम नही हैं तो वह मिनिमम अमाउंट ड्यु की पेमेंट कर सकता हैं। मिनिमम अमाउंट ड्यु टोटल बिल का लगभग 5% होता हैं।उदाहरण के लिए यदि किसी यूज़र का एक महीने का क्रेडिट कार्ड बिल 10000 रुपए हैं तो वह मिनिमम अमाउंट ड्यु जो की लगभग 500 रुपए होगा वह भी पे कर सकता हैं। बैलेन्स अमाउंट पर यूज़र को इंट्रेस्ट देना होता हैं।समय पर मिनिमम अमाउंट ड्यु पेमेंट करने से यूज़र को लेट पेमेंट फ़ीस नही पे करनी होती हैं।

लेट पेमेंट फ़ीस

यदि कोई क्रेडिट कार्ड यूज़र समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल पे नही करता हैं तो उसे इंट्रेस्ट के साथ लेट पेमेंट फ़ीस भी पे करनी होती हैं। परंतु यदि यूज़र क्रेडिट कार्ड ड्यु डेट पर मिनिमम अमाउंट पे कर देता हैं तो उसे कोई भी लेट पेमेंट चार्ज नही लगते हैं। लेट पेमेंट पेनल्टी से बचने के लिए मिनिमम अमाउंट ड्यु पे करना जरुरी हैं।

ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस

बैंक यूज़र से क्रेडिट कार्ड के लिए ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस चार्ज करते हैं। यह फ़ीस प्रत्येक वर्ष चार्ज की जाती हैं तथा सभी क्रेडिट कार्ड की ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस भी अलग अलग होती हैं। क्रेडिट कार्ड में जितनी अधिक सुविधाए अवैलेबल होती हैं उतनी अधिक ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस होती हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कुछ क्रेडिट कार्ड ऐसे भी होते हैं जिनमे ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस ज़ीरो होती हैं यानी आपको कोई भी ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस नही देनी होती हैं। कुछ क्रेडिट कार्ड में पहले वर्ष में ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस ज़ीरो होती हैं तथा दूसरे वर्ष से उन्हें ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस देनी होती हैं तथा कुछ क्रेडिट कार्ड में लाइफ़्टायम ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस ज़ीरो होती हैं।

डिफ़ेन्स पर्सन के लिए लाइफ़्टायम ज़ीरो ऐन्यूअल मेंटेनेंस फ़ीस वाले क्रेडिट कार्ड बेस्ट रहते हैं। यदि आप ज़ीरो ऐन्यूअल मेंटेनेंस चार्ज वाले क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहते हैं जिसमें फ़ीस तथा चार्ज बिलकुल ना हो तथा डिस्काउंट अधिक से अधिक मिले तो आप नीचे दिए गए फ़ॉर्म में अपनी डिटेल सबमिट कर सकते हैं। फ़ौजी अड्डा टीम आपको डिफ़ेन्स पर्सन के लिए बेस्ट क्रेडिट कार्ड सलेक्ट करने में मदद करेगी।

दोस्तों यह थी यह थी क्रेडिट कार्ड से जुड़ी महतवपूर्ण जानकारी। क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने से पहले आपको उससे जुड़ी बातों को अच्छे से समझना अत्यंत ज़रूरी हैं। क्योंकि यह पोस्ट पहले ही बहुत लम्बी हो गयी हैं इसलिए क्रेडिट कार्ड से स्म्ब्न्धित अन्य जरुरी जानकारी अगली पोस्ट में आएगी।

आने वाली पोस्ट में बात करेंगे कि क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने के क्या क्या फ़ायदे हैं तथा क्या क्या नुक़सान हैं। साथ में यह भी बताएँगे की कौन कौन से क्रेडिट कार्ड डिफ़ेन्स पर्सन के लिए बेस्ट हैं तथा क्रेडिट कार्ड को कैसे इस्तेमाल करे जिससे मैक्सिमम बेनेफ़िट मिल सके।

यदि जानकारी अच्छी लगे तो पोस्ट के लास्ट में दिए गए Whatsapp बटन पर क्लिक करके अन्य डिफ़ेन्स पर्सन के साथ अवश्य शेयर करे। डिफ़ेन्स वेलफ़ेयर न्यूज़ टेलीग्राम पर पाने के लिए यहाँ क्लिक करे

यदि इस से स्म्ब्न्धित आपको कोई भी जानकारी चाहिए तो नीचे कॉमेंट सेक्शन में अवश्य कॉमेंट करे। डिफ़ेन्स वेलफ़ेयर न्यूज़ प्राप्त करने के लिए फ़ौजी अड्डा ऐप अवश्य इंस्टॉल कर ले। इंस्टॉल करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर अवश्य क्लिक करे।

यदि आप ईमेल के ज़रिए न्यूज़ प्राप्त करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए फ़ॉर्म में अपना ईमेल डालकर सब्स्क्राइब का बटन दबाए। सभी न्यूज़ सबसे पहले ईमेल के ज़रिए आपको भेज दी जाएँगी।

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

3 thoughts on “क्रेडिट कार्ड क्या होता हैं तथा कैसे काम करता हैं?”

  1. No sir Tnkq,ek baar Liya dha,mei use Kiya nehi 11000 pay krna pada..Costomar care (credit card) ne call krke krke parishan kr diya..Gali v deta hei bahut,,but abhi sir yee Kuch v nehi chahiye,,bass mei Khush ho.tnkq sir.

कमेंट करे

%d bloggers like this: