पैसे निवेश की योजना कैसे बनाये कि वो जल्द ही डबल हो जाए

पैसा कमाने से अधिक महत्वपूर्ण यह होता है कि कमाया हुआ पैसा कैसे बचाया जाए तथा कहा इन्वेस्ट किया जाए। बहुत बार न्यूज़ पेपर में खबर आती है कि डिफेंस पर्सन को झांसा देकर पैसे लेकर फरार हुआ। बहुत सारे डिफेंस पर्सन मल्टी लेवल मार्केटिंग (MLM) कंपनियों के टारगेट में भी रहते है। उसमें कुछ तो पैसे कमा लेते है परन्तु अधिकतर को भारी नुकसान ही होता है। सवाल यह उठता है कि डिफेंस पर्सन अपनी सेविंग को कहा इन्वेस्ट करे। क्या म्यूच्यूअल फंड्स में इन्वेस्टमेंट सेफ है। क्या डिफेंस पर्सन को SIP शुरू करनी चाहिए। इस पोस्ट में हम बात करेंगे की पैसे निवेश कैसे और कहा किये जाए जिससे अधिकतम रिटर्न्स मिले

सबसे पहले हम बात करेंगे कि इन्वेस्टमेंट कैसे करना चाहिए तथा क्यो। अधिकतर डिफेंस पर्सन अपनी सेविंग को रियल एस्टेट में इन्वेस्ट करते है। उसका कारण यह है कि उसमें उन्हें बदले में प्रॉपर्टी मिलती है तथा रिस्क भी कम होता है। यदि प्रॉपर्टी प्राइस नही भी बढ़ते है तो उसे इस्तेमाल किया जा सकता है। परन्तु प्रॉपर्टी के लिए लिये गए लोन के साथ तुलना करेंगे के तो आपको लगेगा कि उसमें जितना फायदा सोचते है उतना होता नही है। अब बात करते है कि अपने पैसे को निवेश कैसे करना चाहिये।

डिफेंस पर्सन को हमेशा अपने पैसे को थोड़ी थोड़ी मात्रा में अलग अलग जगह निवेश करना चाहिए। इससे फायदा यह होता है कि नुकसान होने का रिस्क कम हो जाता है। यदि आपके पास प्रत्येक महीने 20000 रुपये की सेविंग है तो उसे पूरी तरह से AFPP फण्ड में मत डालिये। उसको अलग अलग जगह निवेश कीजिये।

पैसे निवेश कैसे करे
पैसे निवेश कैसे करे

पैसे निवेश कैसे करे।

महंगाई दर के बारे में आपने अवश्य सुना होगा। निवेश करते समय हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि रिटर्न्स महंगाई दर से अधिक हो। उदाहरण के तौर पर यदि महंगाई दर 5% है ओर आपके इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न्स 8% है। इस स्थिति में आपके पैसे केवल 3% का रिटर्न्स दे रहे है।

सबसे पहले बात करते है कि पैसे को इन्वेस्ट करते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

पैसे निवेश करते समय ध्यान देने वाली बातें

  1. विश्वसनीयता।
  2. रिटर्न्स %।
  3. फंड्स की उपलब्धता।
  4. रिटर्न्स पर टैक्स

विश्वसनीयता

जब भी पैसा निवेश करे सबसे पहले उस सोर्स की वैधता अवश्य जाने। बहुत सारी कंपनियां अच्छे रिटर्न्स दिखाकर कस्टमर को पैसे निवेश करने के लिए आकर्षित करती है। वह आपको कंपनी का एड्रेस प्रूफ या कंपनी रजिस्ट्रेशन भी दिखाएंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कोई भी व्यक्ति आसानी से कंपनी रजिस्टर कर सकता है। इसलिए अपने पैसे लगाने से पहले यह सुनिश्चित अवश्य करले की आप अपने पैसे एक सुरक्षित जगह निवेश कर रहे है।

यदि आपको कोई पैसे एक वर्ष या दो वर्ष में डबल कर के रिटर्न्स कर रहा है तो साफ है वह आपको झांसा दे रहा है। ऐसे व्यक्तियों से सावधान रहें। यदि आप कंपनियों में ही निवेश करना चाहते है तो सबसे सुरक्षित तरीका म्यूच्यूअल फंड्स, SIP या इक्विटी मार्किट है। हालांकि बिना जानकारी के इक्विटी मार्किट में पैसा लगाने भी बड़ा risk है। इसलिए म्यूच्यूअल फण्ड या SIP (Systematic Investment Plan) में ही निवेश करें

इन्वेस्टमेंट के लिए गवर्मेंट एप्रूव्ड तरीके जिनमे आप बिना किसी हिचक के पैसे निवेश कर सकते है वो है AFPP fund, mutual funds, SIP, ULIP, Equity market, रियल एस्टेट, पोस्ट आफिस सेविंग स्कीम, इंसोरन्स स्कीम, नेशनल पेंशन स्कीम, फिक्स्ड डिपाजिट (FD), RD (Recurring Deposit) इत्यादि। ये सभी तरीके सुरक्षित है तथा इनमें फ्रॉड होने की गुंजाइश न के बराबर है। हालांकि इन सभी तरीको में रिटर्न्स अलग अलग होता है, कुछ का रिटर्न्स फिक्स होता है तथा कुछ का रिटर्न्स अलग अलग होता है। कहने का मतलब यह है कि आप अपनी मेहनत की कमाई को सुरक्षित तरीको में ही निवेश करें।

यह भी पढ़े

DSP Account खोलने के 10 ऐसे फायदे जो आपको शायद पता नही है

Return %

पैसे निवेश करते समय दूसरा महत्वपूर्ण फैक्टर रिटर्न्स % होता है। यानी जहाँ पर आप पैसे निवेश कर रहे है वहां आपको रिटर्न्स कितना मिल रहा है। यदि आपको रिटर्न्स 6% से कम मिल रहा है तो आपको इन्वेस्टमेंट से पहले दोबारा सोचना चाहिए। क्योंकि सामान्य तौर पर महंगाई दर 3% – 6% के बीच रहती है। और आपको इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न्स भी 6% या उससे कम मिल रहा है। इसका मतलब आपके पैसे की वैल्यू नही बढ़ रही है।

उदाहरण के तौर पर यदि आपने ऐसी जगह अपने पैसे निवेश किये जहाँ आपको 6% वार्षिक रिटर्न्स मिला तथा महंगाई दर भी उस वर्ष 6% रही। तो एक वर्ष बाद आपके पैसे तो 1 लाख रुपये से बढ़कर 1 लाख 6 हजार रुपये हो जाएंगे। परन्तु उनकी वैल्यू उतनी ही रहेगी। यानी उनसे आप उतनी वस्तुए ही खरीद पाएंगे जो आप एक वर्ष पहले 1 लाख रुपये की खरीद पाते थे। पैसे इन्वेस्ट करने से पहले यह भी सुनिश्चित करे कि रिटर्न्स फिक्स है या नही।

क्योकि कुछ जगह रिटर्न्स % फिक्स होता है तथा कुछ जगह फ्लेक्सिबल। उदाहरण के तौर पर FD, RD, AFPP इत्यादि में रिटर्न्स फिक्स होता है। जबकि SIP, ULIP, mutual funds इत्यादि में रिटर्न्स शेयर मार्केट पर निर्भर करता है जो कि कम ज्यादा होता रहता है।

फंड्स की उपलब्धता

पैसे निवेश करते समय यह ध्यान देना आवश्यक है कि आप कितने समय के लिए निवेश कर रहे है। बहुत सारी इन्वेस्टमेंट स्कीम ऐसी होती है जिसमे आपका पैसा कुछ सीमित समय के लिए लॉक हो जाता है। यानी उस समय के दौरान आप अपने पैसे को नही निकाल सकते। यदि आप उस समय पैसे निकालते भी है तो आपको काफी नुक्सान भी होता है। उदाहरण के तौर पर FD, RD, इंसोरन्स स्कीम इत्यादि में लॉक पीरियड रहता है।

ऐसी स्कीम में रिटर्न्स भी फिक्स रहते है। यदि आपको पैसे की लंबे समय तक जरूरत नही है तथा आप बिना रिस्क लिए अपने पैसे को इन्वेस्ट करने चाहते है तो ऐसी स्कीम में जा सकते है। जिसमे लॉक पीरियड हो तथा रिटर्न्स भी फिक्स हो।

यदि आपके पास पैसे निवेश करने के लिए केवल कुछ समय के लिए ही उपलब्ध है तो उसे ऐसी जगह निवेश कर जहाँ पर लॉक पीरियड न हो। दूसरे शब्दों में कहे तो ऐसे इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रूमेंट्स जहाँ पैसे एक से दो दिन में निकाले जा सके। ऐसी सिचुएशन में आप डेब्ट म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते है। जहां रिटर्न्स सामान्यतः FD, तथा RD से ज्यादा रहता है और आप जब चाहे पैसे विधड्रा कर सकते है।

रिटर्न्स पर टैक्स

पैसे निवेश करने से पहले हम इन्वेस्टमेंट पर रिटर्न्स कैलकुलेट करते है। उस समय अधितर लोग टैक्स को ध्यान में नही रखते है। बहुत सारी इन्वेस्टमेंट स्कीम में मिलने वाले रिटर्न्स पर टैक्स भी लगता है। जिससे वो रिटर्न्स % कम हो जाता है। उदाहरण के तौर पर mutual funds, debt mutual funds, equity shares, SIP इन सभी पर अलग अलग सिचुएशन में अलग अलग टैक्स % रहता है।

जबकि AFPP fund, Fixed deposit, PPF, ULIP (Unit Linked Insaurance Plan), ELSS (Equity Linked Saving Scheme), नेशनल पेंशन स्कीम, नेशनल पेंशन सर्टिफिकेट, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, इंसोरन्स पालिसी तथा सुकन्या समृद्धि योजना इत्यादि कुछ पैसे निवेश करने के तरीके है जहाँ पर निवेशकों को Tax Exemption मिलती है।

इसलिए जब भी आप यह सोचे कि पैसे निवेश कैसे करे, तो उस समय निर्णय लेते समय, रिटर्न्स पर टैक्स को अवश्य ध्यान में रखे, उसके बाद ही आप एक्यूरेट रिटर्न्स % निकाल सकते है। और अलग अलग स्कीम की तुलना भी अच्छे से कर पाएंगे।

यह भी पढ़े

Gratuity Calculator तथा Gratuity formula से ग्रेच्यूटी राशि पता करें

दोस्तो ये थे 4 पॉइंट जिनको पैसे निवेश करने से पहले अवश्य ध्यान में रखना चाहिए। अब बात करते है पैसे को समझदारी से कहा कहा निवेश करना चाहिए जिससे अधिक से अधिक फायदा हो सके।

पैसे इन्वेस्ट करने के तरीका

पैसे निवेश करने का तरीका सभी का अपना अपना होता है। यह व्यक्ति के रिस्क लेने की कैपेसिटी पर भी निर्भर करता है। परन्तु यहां एक डिफेंस पर्सन या सैलरीड पर्सन के लिहाज से बात करेंगे। सैलरीड पर्सन को इंवेस्टमेंट किस प्रकार करना चाहिए।

सबसे पहले सेविंग की आदत डालना अत्यंत आवश्यक है। इसके लिए आप किसी भी ऐसी प्लान में इन्वेस्ट कर सकते है जिसमे प्रति महीना कुछ अमाउंट डिपाजिट करना होता है।

सैलरी पर्सन को 30% – 50% तक सेविंग करनी चाहिए। अब बात करते है कि इस सेविंग को कहा इन्वेस्ट करे। उदाहरण के तौर पर 20000 रुपये प्रति महीना इन्वेस्टमेंट करना चाहते है। क्या पूरा अमाउंट AFPP या PPF में इन्वेस्ट करना चाहिए। क्योकि इंसमे रिटर्न्स भी फिक्स होता है जो कि बैंक FD से ज्यादा रहता है तथा इसे कभी भी निकाला जा सकता है। रिटर्न्स फिक्स होने के कारण रिस्क भी नही रहता है।

पैसा इन्वेस्ट कहा करे

परन्तु पूरा अमाउंट AFPP में इन्वेस्ट करना मेरे अनुसार ठीक नही है। इंसमे नुकसान यह है कि आप एक साथ पूरा अमाउंट नही निकाल सकते। केवल 75% ही एक बार मे निकाल सकते है। इंटरेस्ट भी 8% से 9% के बीच रहता है। जबकि महंगाई दर ही 5% है। जिससे पैसे की वैल्यू में केवल 3% से 4% की वृद्धि होती है।

सैलरी पर्सन को अलग अलग जगह निवेश करना चाहिए, जिसमे रिस्क भी एवरेज हो तथा प्रॉफिट भी अच्छा हो।

इतना तो सभी जानते है कि बिना रिस्क लिए आप अपने पैसे को अधिक स्पीड से नही बड़ा सकते। इसलिए थोड़ा सा रिस्क भी लेना जरूरी है। यहां रिस्क से मतलब म्यूच्यूअल फण्ड, SIP या इक्विटी मार्किट से है। जिसमे शेयर प्राइस कम ज्यादा होता रहता है।

आप पैसे को नीचे दिए गए तरीके अनुसार इन्वेस्ट करे।

  • अपनी सेविंग का लगभग 50% टैक्स सेविंग स्कीम में निवेश करें। जिसमे मुख्यत AFPP फण्ड, PPF तथा सुकन्या समृद्धि योजना है। यह इन्वेस्टमेंट आपको गारंटी के साथ 8 से 9% रिटर्न्स देगा। साथ मे टैक्स सेविंग में भी हेल्प करेगा।
  • बचे हुए 50% को दो हिस्सों में डिवाइड करे जिसमे 20% तथा 30% है। यदि आपकी रिस्क लेने की एबिलिटी अधिक है तो आप 30% को SIP इक्विटी में इन्वेस्ट कर सकते है जिसमे रिटर्न्स 13% से 15% के मिल जाते है।
  • बचे हुए 20% को डेब्ट म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते है। जिसमे रिस्क बहुत कम होता है तथा रिटर्न्स 9 -11% मिल जाता है।
  • ध्यान रखे कि SIP में निवेश होने वाले पैसे को अधिक से अधिक समय तक इन्वेस्ट करके रखे। कम से कम 5 साल तक। SIP में इन्वेस्ट किये गए पैसे को पहले 2 वर्ष में बिल्कुल न निकाले। SIP में उतने ही पैसे को निवेश करें जिसे आप लंबे समय तक निवेश करके रख सके।

इस प्रकार पैसे निवेश करने से होने वाले फायदे के बारे में जानना भी जरूरी है। यदि आप इस प्रकार से पैसे निवेश करते है तो नुकसान का रिस्क न के बराबर है। क्योंकि 50% सेविंग पर आपको रिस्क फ्री रिटर्न्स मिल रहा है।

यदि बचे हुए 50% पर आपको रिटर्न्स कम भी मिलता है तो AFPP फण्ड से मिलने वाले रिटर्न्स से कवर हो जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि SIP तथा म्यूच्यूअल फण्ड में नुकसान होने के चांस तभी होते है जब आप उन्हें शार्ट टर्म के लिए निवेश करते है। लंबे समय तक इन्वेस्ट करने में AFPP से कम रिटर्न्स मिलने के चांस बहुत कम है।

दूसरी तरफ यदि आपको म्यूच्यूअल फण्ड या SIP से सामान्य तौर पर 13% भी रिटर्न्स मिलता है तो आपकी सेविंग बहुत जल्दी बढ़ती है। जिससे ओवरआल रिटर्न्स भी बढ़ता है। इस प्रकार आप अपनी सेविंग को इन्वेस्ट कर सकते है।

दोस्तो यह जानकारी आपको कैसी लगी। फ़ौजिअड्डा ब्लॉग पर हमने अपने रीडर्स को सेविंग, म्यूच्यूअल फण्ड, SIP, AFPP फण्ड, सेविंग स्कीम, टैक्स, शेयर मार्केट, पेंशन स्कीम, FD इत्यादि के बारे में डिटेल में जानकारी उपलब्ध कराने की सोची है। आपकी इसके बारे में क्या राय है। यदि आप चाहते है कि हम यह जानकारी आने वाली पोस्ट में डाले तो कमेंट करके अवश्य बताये। साथ मे यह भी बताये कि कौनसी जानकारी सबसे पहले उपलब्ध कराई जाए। यदि आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो फेसबुक और व्हाट्सएप्प ग्रुप में अवश्य शेयर करे।

जय हिंद जय भारत।

Disclaimer :- यह मेरे निजी विचार है जो कि आपके विचारों से अलग हो सकते है। आप अपने पैसे इन्वेस्ट करने से पहले अच्छे से रिसर्च अवश्य करे।

5 thoughts on “पैसे निवेश की योजना कैसे बनाये कि वो जल्द ही डबल हो जाए”

    1. कमेंट करने के लिए धन्यवाद अभिजीत। हमारी अगली पोस्ट में हम mutual fund की पूरी जानकारी डिटेल में आपको देंगे।

  1. सर्
    सुकन्या समृद्धि ac पोस्ट ऑफिस में हैं बह पिछले3 साल से बंद है ओर उसमे 3,4 हजार रूपये पड़े है मगर अब मैने उसमें पैसे नहीं डाले है मगर आपकी यह पोस्ट पड़कर सविग का जरिया अच्छा लगा तो मै, sir इस ac को दुबारा चालू कर सकता हूं सिर प्लस रिप्लाई कैसे भी दो ,9860802057

    1. जी अर्जुन, बिल्कुल आपको इस योजना को कंटिन्यू करना चाहिए। हमे आरम्भ में यह लगता है कि इतने थोड़े थोड़े अमाउंट से कुछ नही होगा, परन्तु जब यह कंपाउंड होता है तो इसकी वैल्यू समझ आती है।

कमेंट करे

%d bloggers like this: