ECHS मेंबर (AYUSH) आयुर्वेदिक, योगा, यूनानी, सिद्धा तथा होमियोपैथी ट्रीटमेंट कैसे प्राप्त करे।

AYUSH TREATMENT




ECHS की सुविधा Exservicemen के लिए बहुत ही लाभदायक है। इस मेडिकल फैसिलिटी के तहत रिटायर्ड डिफेंस पर्सन छोटी से छोटी तथा बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज मुफ्त में करवा सकते है। ECHS सुविधा में ECHS पालीक्लिनिक, मिलिट्री हॉस्पिटल तथा प्राइवेट ECHS एमपनेल हॉस्पिटल में ट्रीटमेंट कराया जाता है। समय समय पर Exservicemen फैसिलिटी में सुधार किया जाता है। हाल ही में ECHS के तहत आयुष (आयुर्वेद, योगा, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्धा तथा होमियोपैथी) हॉस्पिटल में भी ट्रीटमेंट करना लागू किया गया है।

बहुत बार Ex servivemen आयुर्वेदिक, होमियोपैथी इत्यादि से अपना ट्रीटमेंट करवाते है तथा जानकारी के अभाव में खर्च होने वाले पैसे को वो क्लेम नही कर पाते। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ECHS के द्वारा भी ECHS मेंबर AYUSH (आयुर्वेद, योगा, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्धा तथा होमियोपैथी) से ट्रीटमेंट ले सकते है तथा उसका पूरा क्लेम कर सकते है।

इस पोस्ट में हम बात करेंगे कि Exservicemen, ECHS facility के तहत AYUSH हॉस्पिटल में अपना इलाज कैसे करा सकते है जिसका पूरा खर्च ECHS द्वारा प्रदान किया जाता है।

ECHS AYUSH TREATMENT FACILITY

  1. ECHS Beneficiaries सरकारी आयुष हॉस्पिटल, कॉलेज, आयुष राष्ट्रीय इंस्टीटूट, डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, सुबडिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल, सरकारी डिस्पेंसरी, प्राइमरी हेल्थ केअर सेन्टर, मुनिसिपलिटी हॉस्पिटल जो केंद्र तथा राज्य सरकार द्वारा फण्ड किये जाते है, उनमें आयुर्वेद, योगा, नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्ध तथा होमियोपैथी मेडिसिन से ट्रीटमेंट करवा सकते है।



  2. इस स्कीम में OPD बेसिस तथा अस्पताल में एडमिट होकर ट्रीटमेंट लिया जा सकता है। यह स्कीम सितंबर 2018 से लागू हो चुकी है।
  3. AYUSH मेडिकल फैसिलिटी के लिए ECHS मेंबर को सबसे पहले ECHS पालीक्लिनिक या ECHS रीजनल सेन्टर या ECHS सेंट्रल आर्गेनाईजेशन से परमिशन लेनी अनिवार्य है। परमिशन के लिए एप्लीकेशन की दो कॉपी बनाये जो एक परमिशन देने वाली अथॉरिटी के पास रहती है। अन्य कॉपी इंडिविजुअल के पास रहती है जिसको मेडिकल बिल क्लेम करते समय अन्य डाक्यूमेंट्स के साथ लगाना होता है।
  4. AYUSH ट्रीटमेंट की परमिशन के लिए भी कुछ शर्तों को मानना आवश्यक है। यदि रिटायर्ड डिफेंस पर्सन पहले से एलोपैथिक ट्रीटमेंट ले रहा है तो उसे एलोपैथिक ट्रीटमेंट के साथ AYUSH की परमिशन नही मिलेगी।
  5. एक बार मे ECHS मेंबर एक ट्रीटमेंट की ही परमिशन ले सकते है। एक साथ दो ट्रीटमेंट सिस्टम की परमिशन नही है। यह ECHS beneficiery पर निर्भर करता है कि वह एलोपैथिक ट्रीटमेंट करवाना चाहते है या AYUSH।
  6. आयुष ट्रीटमेंट की परमिशन केवल उन्हीं संस्थानों के लिए मिलेगी जो सरकारी हो तथा ECHS द्वारा अप्परूव किये गए है।
  7. परमिशन प्राप्त करने के पश्चात ECHS मेंबर AYUSH सिस्टम से अपना इलाज करवा सकते है। परन्तु ट्रीटमेंट के लिए होने वाले खर्चे का भुगतान पहले उन्हें स्वयं करना होगा। उसके पश्चात ट्रीटमेंट पर होने वाले खर्च को ECHS मेंबर क्लेम कर सकते है।

अब बात करते है AYUSH ट्रीटमेंट बिल क्लेम करने के तरीके के बारे में। ट्रीटमेंट के लिए परमिशन लेने के लिए एप्लीकेशन फॉरमेट नीचे फ़ोटो में दिया गया है।

ECHS PERMISSION application

PROCEDURE TO CLAIM MEDICAL BILLS

ट्रीटमेंट लेने के पश्चात मेडिकल बिल पैरेंट ECHS पालीक्लिनिक के जरिये क्लेम किये जाते है। मेडिकल बिल क्लेम करने के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स की लिस्ट इस प्रकार है।

  • ECHS Card की कॉपी
  • परमिशन लेटर
  • जानकारी के लिए ईमेल एड्रेस, मोबाइल नंबर तथा टेलीफोन नंबर
  • जहाँ पर पैसे क्रेडिट करवाना चाहते है वो बैंक एकाउंट नंबर तथा अन्य डिटेल्स
  • मेडिकल बिल समरी के साथ
  • यदि ट्रीटमेंट के लिए एडमिट हो तो डिस्चार्ज समरी।

ऊपर दिए गए सभी डाक्यूमेंट्स पैरेंट पालीक्लिनिक में ट्रीटमेंट के 3 महीने के अंदर जमा करने होते है। उसके पश्चात पैरेंट पालीक्लिनिक बिल क्लेम करने की शेष कार्यवाही करता है।



यह भी पढ़े

ECHS beneficieries application डाउनलोड करके इस्तेमाल करे।

AYUSH ट्रीटमेंट से सम्बंधित मुख्य पॉइंट इस प्रकार है।

  1. आयुष में कंसल्टेशन, इन्वेस्टीगेशन, प्रोसीजर, ट्रीटमेंट, मेडिसिन के लिए होने वाले खर्च के लिए ECHS मेंबर बिल क्लेम कर सकते है।
  2. बिल क्लेम एक्चुअल रेट यानी MRP पर क्लेम किये जा सकते है।
  3. मेडिसिन की पूरी कॉस्ट क्लेम की जा सकती है। यदि मेडिसिन फ़ूड, टॉनिक, विटामिन की केटेगरी में आते है जैसे रिवाइटल कैप्सूल्स, disinfectant, toileteries इत्यादि का क्लेम नही कर सकते है।
  4. प्राइवेट AYUSH हॉस्पिटल में लिया गया ट्रीटमेंट का खर्चा भी क्लेम नही किया जा सकता है।
  5. UTI ITSL जमा किये गए डाक्यूमेंट्स की बारीकी से जांच करती है तथा बिल को प्रोसेस करती है। इसके पश्चात CFA से अप्रूवल मिलने के बाद पैसे डायरेक्ट ECHS मेंबर के एकाउंट में क्रेडिट कर दिए जाते है।

दोस्तो ECHS द्वारा अप्परूव किये गए आयुष हॉस्पिटल की लिस्ट नीचे फ़ोटो में दी गयी है जिनमे आप अपना ट्रीटमेंट करवाकर होने वाले खर्च का क्लेम कर सकते है।

ECHS AYUSH HOSPITAL

ECHS AYUSH TREATMENT

ECHS Approved AYUSH HOSPITAL

यह भी पढ़े

ECHS card status कैसे पता लगाएं?

दोस्तो यह थी ECHS द्वारा आयुर्वेदिक, होमेओपेथी, यूनानी, सिद्धा तथा योगा पद्यति द्वारा ट्रीटमेंट करवाने की पूरी प्रोसीजर। यदि इस से सम्बंधित आपको कोई भी परेशानी हो तो आप पैरेंट पालीक्लिनिक में जाकर अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है।

यदि यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो फेसबुक तथा व्हाट्सएप्प ग्रुप में अवश्य शेयर करे।

जय हिंद जय भारत

2 thoughts on “ECHS मेंबर (AYUSH) आयुर्वेदिक, योगा, यूनानी, सिद्धा तथा होमियोपैथी ट्रीटमेंट कैसे प्राप्त करे।”

  1. Sir miltery hospital se referal ki jrurat ni hai kya pehle direct ja sakte hai kya mere dependent city hospital me jo echs panel pe ho

    1. AYUSH ट्रीटमेंट के लिए सबसे पहले ECHS पालीक्लिनिक से परमिशन लेनी होती है उसके बाद ECHS द्वारा दी गयी लिस्ट में दिए गए हॉस्पिटल में आप इलाज करा सकते है।

कमेंट करे

%d bloggers like this: