भारतीय सेना की रिटायरमेंट सर्विस 15 वर्ष से बढ़कर 20 वर्ष होने में जवानों को क्या फायदा तथा नुकसान होगा।

indian army rally schedule




भारतीय थल सेना, वायु सेना तथा जल सेना ऐसी केंद्रीय नौकरी है जिसमे रिटायरमेंट के बाद अब भी पेंशन दी जाती है। केंद्र सरकार द्वारा अन्य केंद्र सरकार की नोकरियो में पेंशन बन्द कर दी गयी है और कर्मचारियों को रिटायरमेंट के समय एक साथ पेंशन की राशि दे दी जाती है। सेना में रिटायरमेंट के बाद पेंशन देने का मुख्य कारण यह भी है की फौजी 15 साल 3 महीने बाद ही Voluntary Retirement Scheme(VRS) के तहत रिटायरमेंट ले सकते है और जब वो Premature retirement लेते है तो उनकी आयु लगभग 35 वर्ष होती है। फौजियो को रिटायरमेंट के बाद फाइनेंसियल सपोर्ट देने के लिए केंद्र सरकार सिर्फ डिफेंस पर्सन को पेंशन देती है जबकि अन्य केंद्र नोकरियो में रिटायरमेंट की उम्र 58 से 60 वर्ष है इसलिए उन्हें पेंशन की ज्यादा आवश्यकता नही होती।



कुछ समय से सोशल मीडिया पर डिफेंस मिनिस्ट्री का एक लेटर वायरल हो रहा है जिसमे फौजियो की रिटायरमेंट सर्विस बढ़ाने सम्बन्धित बात की गई है तो आज हम उसी लेटर के बारे में डिटेल से बात करेंगे। उस लेटर की कॉपी नीचे फोटो में दी गई है।

यह लेटर DG Inf ने केवल इन्फेंट्री रिकार्ड्स को सेंड किया है ओर इस लेटर की वैधता की अभी पुष्टि नही हुई है।

इस लेटर के अनुसार रिटायरमेंट सर्विस को बढ़ाने के लिए सुझाव मांगा गया है। पिछले कुछ वर्षों में प्री-मैच्योर रिटायरमेंट लेने वाले सोल्जर की संख्या काफी बड़ी है जिससे सरकार को अतिरिक्त पेंशन का बोझ उठाना पड़ता है।

पेंशन के अतिरिक्त नए जवानों की भर्ती तथा ट्रेनिंग पर भी खर्च बढ़ता है।
इस लेटर के मुख्य बिंदु निम्नलिखित है

  1. सेना के जवानों की रिटायरमेंट सर्विस 15 वर्ष से 20 वर्ष की जाए।
  2. जवानों की ट्रेनिंग का समय इस 20 वर्ष में शामिल न हो मतलब पासिंग आउट परेड के 20 वर्ष बाद जवान रिटायरमेंट ले सकता है।
  3. यदि रिटायरमेंट की सर्विस नही बढ़ानी हो तो 15-17 वर्ष में रिटायरमेंट जाने वाले जवान को 75%, 17-20 वर्ष में रिटायर जाने वाले जवान को 85% तथा 20 वर्ष से अधिक सर्विस करने के बाद रिटायरमेंट जाने वाले जवान को 100% पेंशन मिले।

यदि रिटायरमेंट सर्विस के सुझाव को लागू किया जाता है तो जवानों पर इसका प्रभाव

  1. रिटायरमेंट सर्विस बढ़ने से जवानों के प्रमोशन में 5 वर्ष तक की देरी हो सकती है।
  2. यदि जवान 15 से 17 वर्ष सर्विस के बाद रिटायर होता है तो उसको वर्तमान की पेंशन का केवल 75% ही मिलेगा।
  3. इस पालिसी के लागू होने से आर्मी में नई रिक्रूटमेंट में भारी कमी होगी तथा जो जवान अब आर्मी रैली की तयारी कर रहे है उन्हें कम वेकैंसी के कारण निराशा हो सकती है।
  4. सेना में युवा जवानों के कम होने के कारण सीनियर जवानों पर अतिरिक्त भार आएगा।
  5. यदि जवान 20 वर्ष में रिटायरमेंट लेगा तो सबसे ज्यादा नुक्सान उन जवानों को होगा जिनको अधिक उम्र होने के कारण सेना में प्रमोशन नही मिलेगा तथा उस समय तक वो सिविल में नॉकरी के लिए एलिजिबल नही होंगे।
  6. 20 वर्ष बाद रिटायर होने वाले जवान सिविल में नॉकरी के लिए ओवर ऐज होने के करीब होंगे इसलिए उन्हें सिविल में सेटल होने में प्रॉब्लम होगी।




यदि सरकार सेना के जवानों की रिटायरमेंट सर्विस बढ़ाना चाहती है तो वह उन्हें जबरदस्ती रिटायरमेंट सर्विस बढ़ाने की बजाय इस पालिसी को इस प्रकार तैयार करे कि जवान अपनी मर्जी से रिटायरमेंट सर्विस बढ़ाये। हमारी तरफ से कुछ सुझाव इस प्रकार है

  1. यदि 15-17 वर्ष में पेंशन जाने वाले जवान को 100% पेंशन मिल रही है तो 20 वर्ष में पेंशन जाने वाले जवान को 120% पेंशन दे ।
  2. 20 वर्ष सर्विस होने पर इन्क्रीमेंट 3% की बजाय 5% मिले।
  3. 20 वर्ष सर्विस करने वाले जवान के एक की बजाय दो डिपेंडेंट को रिलेशनशिप भर्ती का फायदा मिले।

इस प्रकार केंद्र सरकार अलग अलग इंसेंटिव के जरिये जवानों को ज्यादा सर्विस करने के लिए मोटीवेट कर सकती है। सरकार ने प्रीमैच्योर रिटायर जाने वाले जवानों को पहले ही OROP(One Rank One Pension) के बेनिफिट से बाहर रखा है यदि 15 वर्ष में रिटायर जाने वाले जवानों को पेंशन केवल 75% मिलेगी तथा उसे One Rank One Pension का फायदा भी नही मिलेगा तो यह उसके लिए काफी हताश करने वाला निर्णय होगा।

सरकार पहले ही CSD कैंटीन में जवानों को मिलने वाली सुविधा में कटौती कर चुकी है

सरकार ने जवानों को बराबर मिलिट्री सर्विस पे देने के फैसले को भी ठंडे बस्ते में डाल रखा है

यदि सरकार के ऊपर पेंशन का अतिरिक्त बोझ आ रहा है तो सरकार को रिटायरमेंट ऐज बढ़ाने की बजाय सेना की संख्या को कम करने के बारे में सोचना चाहिए। नीचे हमने एक पोल आरम्भ किया है जिसमे आपको रिटायरमेंट सर्विस बढ़ाने के बारे में वोट करना है तथा नीचे कमेंट सेक्शन में आप अन्य कोई सुझाव भी बता सकते है।





यदि आप चाहते है कि हमारे जवानों को इस पालिसी के फायदे तथा नुकसान का पता चले तो इस पोस्ट को शेयर करे।

जय हिंद जय भारत

(इस पोस्ट में लेखक के अपने पर्सनल विचार है जो आपसे अलग हो सकते है)

30 thoughts on “भारतीय सेना की रिटायरमेंट सर्विस 15 वर्ष से बढ़कर 20 वर्ष होने में जवानों को क्या फायदा तथा नुकसान होगा।”

  1. अजय कुमार

    यह सेना के मनोबल को गिराने वाला एक नकारात्मक कदम है जो सैनिकों से उनका हक छीनने की बात कर रहा है ।अगर सरकार 20 साल सर्विस करना चाहती है तो ड्यूटी भी 8 घण्टे की जाय। अगर ट्रेनिंग पीरिएड को सरकार काउंट नही करना चाहती तो ये बताये की हम एक साल हमे अपने परिवार से दूर क्यों किया ??

  2. PANKAJ KUMAR TYAGI

    Settlement will be a big problem for the veterans, if govt continues with the decision it will not be in the interest of the nation and the veterans.

  3. it is not legal because whatever terms and conditions at the time of recruitment signed .that will not change if any change that should be applicable for the new recruitment not for the previous. as I know it will not applicable for the previous recruitment.

  4. Why no one is pointing towards root causes
    As per my observation and data avaliable the main causes of rising VRS
    Are

    1 Discriminative promotion policy
    In a unit a 16 year sep is serving in otherhand 7 years Hav commanding
    It create a suffoction in orgnisation

    2. British era rules
    Our Army orders were designed by britishers and till now no change
    But whole world and scenrio has changed.

    3
    Pressure by seniors and administrative work is increasing day by day apart from trade work a soldier do all work whereas his trade work is the only key to support the country in war.so where will be proud.

    4
    Poor response by govt
    When soldier raise his voice againgst wrong doing and corruption it will be declered mutiny and in many clear cut cases govt not come out with correct policies.

    If govt and senior officers really has concern raising burdden on exchquer
    So its urgent need to find rootcause and solve insted talk like bulshit.

  5. This govt want to make a new India where a few r lord n remaining servent. how vud an exsm survive as well as re-settled, if he retires at d age of 45. The nation is again in d hands of blind who r throwing stones in the dark to hit on fish eye.

  6. Angrejo ki sena me 15yrs hi bhut badi majboori lagti hai abhi ye tuglaki farman aur jina muskil kar denge abhi to ye lagne laga ki ye govt. Paise walo ki hai jo paise wale aur officers sochate hai wo hi hota hai

  7. Bahut hi nara laga rahethe ”Achhe Din Agaya”. Aisahi hai kya Modi ji ki achhe din. Agar 15 se 20 saal karna chahta hai pension dene kelie toh ministers ko 5 saal baad kaise pension lagu karta hai. Desh kelie jaan dene walon kelie 20 saal aur ministers ko 5 saal. Bhasan dete samaya ”Jai Jawan Jai Kisaan” aur kaam karta hai 15 se 20 saal chahie pension kelie. Mere hisab se jawan ko vi ministers ki tarah 5 saal naukri complete karnese pension lagu karna chahie.

  8. ye hamare young generation k liye bhi ek abhisap sidh hoga kyoki service ko increase ksrne se unemployed ki badotarri hogi.

  9. Agar govt service badati h to jawano ko offrs ki tarah time scale promotion 5yrs m NK, 8yrs m Hav or 13yrs ki sabhi jawan ko JCO rank compulsory mil jana chahiye.jo jawan physical disabilities ho jaye unke sath koi unlike behavior nahi hona chahiy. Ye Sab hone per jawan aapne aap service badayega usko koi under force karne ki jarurat nahi padegi.

  10. हमेशा ही सेना के जवानों का हक मारा जाता है सांसद विधायकों की कोई कटौती नहीं होती

  11. Sabhi jawano ko rank jaldi milna chahiye ,relationships bharti two hone chahiye .duty 8 HR ki hone chahiye aur home posting hona chahiye. Piece posting 5 years hona chahiye, field 2 years hone chahiye, highealty 1.5 years hone chahiye ,jawano aur officer ka welfare Ek hona chahiye, training ke samay sabhi jawano ko army order ko batane chahiye ,air ticket saal me one free hone chahiye. Agar koi jawan sena se jana chats hai tho ushe 15 saal ke Baath full pension thekar bhej thena chahiye.

  12. हमेशा ही सेना के जवानों का हक मारा जाता है सांसद विधायकों की कोई कटौती नहीं होती
    BJP वालो को कोई काम नहीं
    Agli bar Congress sarkar

  13. Sena ki naukari koi ac room me baithkar karnewali naukari nahi hai jo 20saal jawan kar paaye….ek well physically fit jawan 10se12 Saal to aaram se sena ki naukari kar paata hai….

  14. Manish sir aapne bahut hi acchha likha h ye baat sabhi solder chahata h lekin army officer ye kabhi nahi chahte ki koi jawan unse aage badhe or unka bachcha bhi acchhi padhai kar sake .

  15. Iliyasआर्मी में पेंशन होना चाहिए

    आर्मी में पेंशन होना चाहिए जब नेता 5 साल देश से करोड़ों लुट्ता है और इसके बाद भी सिर्फ़ 5 साल के बाद उसे जीवन भर पेंशन क्यूँ जब आर्मी में अपनी जवानी गवाते हैं जवान फिर भी कोई पेंशन नहीं बुढ़ापे पे क्या करे आर्मी वाले एसे में कान भर्ती होगा आर्मी पे और देश की सुरक्षा कमज़ोर होगा नेता आर्मी वाली की पेंशन का पैसा तक खा जा रहे हैं

  16. army pay brabar ho 15 saal ke baad pension ho one rank one pension ho pmr ke liye permotion 5 saal me nk 8 saal me hav 13 sub ho

कमेंट करे