1600 metre running tips जिसकी मदद से रनिंग फर्स्ट ग्रुप में करे

इंडियन आर्मी रैली में सबसे पहले फिजिकल टेस्ट होता है तथा फिजिकल टेस्ट में सर्वप्रथम 1600 मीटर (1.6 किलोमीटर) रनिंग होती है तथा केवल 3% से 8% नोजवान ही इंडियन आर्मी रनिंग के टेस्ट को सफलतापूर्वक पास कर पाते है। यदि आप इंडियन आर्मी में भर्ती होने चाहते है तो आपकी फिजिकल में 100 मार्क्स लाने की कोशिश होनी चाहिए क्योंकि फिजिकल में 100 नंबर मिलने से मेरिट में स्थान पाना आसान हो जाता है।
फिजिकल में अच्छे मार्क्स लाने के लिए आपको आर्मी की 1600 मीटर दौड़ प्रथम ग्रुप में करनी पड़ेगी। यदि आपने अभी तक इंडियन आर्मी रनिंग की तयारी नही की है तथा 1600 मीटर दौड़ की तयारी शुरू करना चाहते है तो हमारी नीचे दी गयी पोस्ट को जरूर पढ़ें जिसकी मदद से आप केवल 3 महीने में इंडियन आर्मी रनिंग की तैयारी कर सकते है।

इंडियन आर्मी फिजिकल की तैयारी केवल 3 महीने में करने के लिए यहाँ क्लिक करे

अब हम आपको रनिंग टिप्स बताएंगे जो आपको इंडियन आर्मी रैली के फिजिकल के दिन इस्तेमाल करने है। ये टिप्स 100% रनिंग में पास होने के लिए काम करते है तथा फिजिकल इंस्ट्रक्टर के द्वारा इन टिप्स को आर्मी रनिंग के लिए डिज़ाइन किया गया है।आर्मी भर्ती नोट्स

इंडियन आर्मी 1600 metre running tips तथा इंडियन आर्मी में भर्ती से सम्बंधित टिप्स के लिए foujiadda यूट्यूब चैनल को अवश्य सब्सक्राइब करे।

Indian Army 1600 metre running tips

    1. जिस दिन आपका फिजिकल हो उससे 3 दिन पहले रनिंग प्रैक्टिस करना बंद करदे। इससे आपकी मासपेशियां पूरी तरह से रिलैक्स होकर रनिंग के लिए तैयार हो जाएगी तथा फिजिकल के दिन आपको थकावट तथा मासपेशियो में दर्द बिल्कुल नही होगा।
    2. फिजिकल से एक दिन पहले हल्का भोजन खाये तथा उस दिन सुबह सुबह 1 गिलास पानी पीएं तथा फ्रेश हो जाये।
    3. रनिंग वाले दिन से पहली रात दांतो को ब्रश करके सोए तथा सुबह में बगैर टूथ पेस्ट के ब्रश करे। ऐसा करने से दौड़ते समय आपको प्यास नही लगेगी तथा मुह नही सूखेगा।
    4. आर्मी दौड़ के लिए अच्छे रनिंग जूते खरीदे तथा उन्हें फिजिकल से कुछ दिन पहले से इस्तेमाल करे ताकि इंडियन आर्मी दौड़ वाले दिन तक वो आपके पैरों में अच्छे से फिट हो जाये। (कुछ नोजवान सोचते है कि रनिंग शूज इंडियन आर्मी रनिंग में ज्यादा महत्वपूर्ण नही होते, मैँ आपको बताना चाहता हूँ कि अच्छे रनिंग शूज हल्के होने तथा अच्छी सोल होने से 5 मीटर तक का अंतर डालते है ओर यही 5 मीटर आपको फैल से पास तथा सेकंड ग्रुप से फर्स्ट ग्रुप में डाल सकता है। यही कारण है कि राष्ट्रीय तथा अंतराष्ट्रीय स्तर पर खिलाड़ी अच्छे जूतों का इस्तेमाल करते है।
    5. रनिंग के लिए एथेलेटिक जुराबों का इस्तेमाल करे। अच्छी जुराबें पसीना सोखती है तथा पैरों ओर जूते में घर्षण से बचाती है जिससे आपके पैर में कॉर्न तथा चोट नही लगती। कैंडिडेट को इंडियन आर्मी रनिंग की प्रैक्टिस के दौरान से ही अच्छे जूते तथा जुराबों का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि फिजिकल के समय उसके पैर चोट वगैरह से बचे रहे।
    6. इंडियन आर्मी 1600 metre running हाफ पैंट (निक्कर) में दौड़े इससे आपके कदम की लंबाई बढ़ेगी तथा कम समय मे ज्यादा दूरी तय करने में मदद मिलेगी
    7. रनिंग ग्राउंड में जाने से पहले थोड़ा सा (एक से दो घूंट) पानी पीएं तथा बाथरूम वगरैह करले ताकि रनिंग से पहले आप बिलकुल कम्फ़र्टेबल हो।
    8. रनिंग शुरू होने से पहले 5 से 10 मिनट वार्म अप (स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज) करें।
    9. रनिंग ग्राउंड में हमेशा सबसे आगे तथा ग्राउंड के अंदर वाली साइड खड़े हो
    10. ग्रुप में सबसे आगे खड़े होने से आपको शुरू में रुकावट का सामना नही करना पड़ता। पीछे वाले कैंडिडेट को भीड़ से बाहर निकलने में ही 15 से 30 सेकंड लग जाते है। बहुत बार कैंडिडेट भीड़ से आगे निकलते समय गिर भी जाते है इसलिए इस सब से बचने के लिए सबसे आगे खड़े हो।

  • 1600 meter running tips
  • ग्राउंड के अंदर वाली साइड खड़े होने से दूरी 1600 मीटर हो जाती है। यदि ग्राउंड के बाहर वाली साइड से दौड़ोगे तो आपको हर राउंड में 5 से 10 मीटर ज्यादा दौड़ना पड़ेगा जो 4 राउंड का मिलकर 20 से 40 मीटर हो जाता है। इसलिए कोशिश करे कि ग्रुप में सबसे आगे तथा ग्राउंड के अंदर वाली साइड ही खड़े हो।
  • 1600 metre running शुरू होने से पहले अलर्ट रहे तथा रनिंग शुरू करने के आदेश का इंतजार करें।
  • रनिंग शुरू होते ही पहले 50 मीटर तक थोड़ी सी ज्यादा स्पीड में दौड़े ताकि आप ग्रुप की भीड़ में न फसे। 50 मीटर के बाद आप अपनी सामान्य स्पीड में आ सकते है।
  • रनिंग के शुरू में ही ज्यादा दम न लगाएं, मध्यम स्पीड से दौड़ते रहे।
  • दौड़ते समय पैर के आगे वाले हिस्से के ऊपर दौड़े उससे स्पीड ज्यादा मिलती है।
  • 1600 मीटर रनिंग करते टाइम शरीर को थोड़ा सा आगे की तरफ जुकाकर दौड़े। उसे शरीर का सरफेस एरिया कम हो जाता है तथा हवा से घर्षण कम होता है और दौड़ने की स्पीड बढ़ती है।
  • ग्रुप में न ही सबसे आगे रहे तथा न ही सबसे पीछे रहे। एक स्पीड बनाकर दौड़ते रहे।
  • इंडियन आर्मी भर्ती की 1600 मीटर दौड़ के 3 राउंड (1200 मीटर) होने के बाद अपनी स्पीड बढ़ाना शुरू करे तथा एक एक कैंडिडेट को पीछे छोड़ना शुरू करे।
  • 1600 मीटर की रनिंग में आपको इतना स्टैमिना बचा के रखना है कि अंतिम 100 मीटर से 200 मीटर तक आप स्प्रिंट (तेज स्पीड) में दौड़ सके।
  • रनिंग के आखरी 100 मीटर में पूरा स्टैमिना लगा दे तथा पूरी स्पीड के साथ दौड़ को समाप्त करे।
  • दौड़ खत्म करते ही 3 से 5 मिनट तक जम्प करे या हिलते डुलते रहे। एक दम से शरीर को ठंडा न होने दे।

आर्मी भर्ती नोट्स

यह भी पढे

इंडियन आर्मी भर्ती के लिए बेस्ट रनिंग शूज देखने के लिए यहां क्लिक करे
दोस्तो ये थे इंडियन आर्मी 1600 metre running tips। ऊपर बताये गए रनिंग टिप्स को फॉलो करके आप 1600 मीटर रनिंग में सफलता पा सकते है परन्तु उससे पहले आपको रनिंग की खूब सारी मेहनत करने की आवश्यकता होती है।


ये टिप्स भी तभी काम करते है जब आपने 1600 मीटर रनिंग की आर्मी भर्ती से पहले अच्छे से तयारी कर रखी हो। इन टिप्स की मदद से आपके टाइमिंग में इम्प्रूवमेंट होगी।दोस्तो एक बार इस पोस्ट को सभी फेसबुक ग्रुप तथा व्हाट्सएप्प पर शेयर अवश्य करदे ताकि आर्मी की तैयारी कर रहे नोजवान इन रनिंग टिप्स की मदद से इंडियन आर्मी भर्ती का फिजिकल पास कर सके।

इंडियन आर्मी की ट्रेनिंग कैसे ओर कहा होती है

जय हिंद जय भारत

कमेंट करे

%d bloggers like this: